पारंपरिक की जगह अब वीडियो रिज्यूमे का जमाना, ये न सिर्फ हायरिंग को आसान बनाकर समय बचाएंगे, बल्कि ऑथेंटिक भी होंगे

  • Hindi News
  • Career
  • Now Traditional Resumes Is Replacing With Video Resume, These Will Not Only Save Time By Making Hiring Easier, But Will Also Be Authentic.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पैनडेमिक के प्रभाव से ह्यूमन सप्लाय चेन भी अछूता नहीं रहा है। रिक्रूटर्स अब पारंपरिक रेज्यूमे की जगह वीडियो रेज्यूमे को बढ़ावा दे रहे हैं। ये न केवल हायरिंग को आसान बनाकर समय बचाएंगे बल्कि ऑथेंटिक भी होंगे। एक प्रभावी वीडियो रेज्यूमे बनाने में उम्मीदवार को इन बातों का ध्यान रखना होगा-

स्क्रिप्ट लिखें

तय करें कि आप सिर्फ कैमरा के सामने बोलना चाहते हैं या अपनी स्किल्स दिखाने के लिए कुछ एक्शन शॉट्स भी दिखाना चाहते हैं। अगर एक्शंस शामिल करने हैं तो हर एक स्टेप को पहले लिख लें ताकि आप क्रम समझ पाएं। आप जो बोलना चाहते हैं उसकी भी आउटलाइन बनाएं। कॉन्वर्सेशनल वीडियाे के लिए बुलेट पॉइंट्स में लिखें और अगर स्पीच है तो कुछ स्ट्रॉन्ग एक्शन वर्ब्स का इस्तेमाल जरूर करें। इससे आपका रिज्यूमे मजबूत बनेगा और असरदार भी दिखेगा।

कई टेक्स में रिकॉर्ड करें

स्क्रिप्ट या आउटलाइन के साथ वीडियो रेज्यूमे का हर सेगमेंट अलग-अलग एक्सप्रेशंस और टोन्स के साथ कई बार रिकॉर्ड करें। अगर बैठ कर बोल रहे हैं तो छोटे सेगमेंट्स रखें ताकि आप आसानी से रीस्टार्ट या कुछ नया एड कर पाएं। वहीं एक्शन शॉट में आप एक ही प्रोसेस को दोहराते हुए लंबा सेगमेंट शूट कर सही फुटेज को चुन सकते हैं। इंफॉर्मेशनल स्लाइड्स, इंफोग्राफिक्स, फोटोज भी ऐड करें।

क्या है रिज्यूमे?

रिज्यूमे एक ऐसा दस्तावेज है जिसमें कार्य अनुभव उपलब्धियां, योग्यता इत्यादि का विवरण संक्षेप में दिया जाता है। जिसे इंटरव्यू के दौरान इंटरव्यूअर के सामने पेश किया जाता है। रिज्यूमे में कार्य अनुभव को सबसे पहले लिखा जाता है। ताकि इंटरव्यूअर को आपके बारे में जानकारी आसानी से हो जाए।

यह भी पढ़े-

एग्जाम प्रिपरेशन:जीमैट की प्रिपरेशन स्ट्रेटेजीज से लेकर सक्सेस स्टोरीज तक के लिए देखें ये यूट्यूब चैनल्स, इस साल ऑनलाइन होगा एग्जाम

न्यू कोर्सेस:एनआरटीआई ने लॉन्च किए यूजी और पीजी के 7 खास कोर्सेस, यूनिक कोर्सेस की तलाश है तो इन्हें कर सकते हैं एक्सप्लोर

विशेष इंटरव्यू:मेरी मां दिल्ली यूनिवर्सिटी की टॉपर थीं, पर करिअर नहीं बना पाईं, इसीलिए मैंने अपनी कंपनी में 11 हजार महिला टीचर को ही रखा है

Related Posts
Spread the love

Leave a Comment