मध्यभारत में पहली बार, ऐसे कोर्सेस जो करें आपके सपनों के करियर को साकार

  • Hindi News
  • Career
  • For The First Time In Madhya Pradesh, The Courses That Make Your Dream Career Come True

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी की भव्य विरासत और टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट वाले नए कोर्सेस के साथ एक बेहतर भविष्य की ओर बढ़े सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी हमेशा से ही शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करने और बेहतर भविष्य की नींव रखने वाला एक संस्थान के रूप में प्रचलित है| विश्वास एवं शैक्षणिक उद्धार के साथ -साथ नए विषयों में करियर बनाना आज के समय में एक ट्रेंड बन गया है| सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी हमेशा से ही नवीन शैक्षणिक आविष्कारों के लिए अग्रणी संस्थान माना जाता है| तकनीकी कौशल और ज्ञान के साथ कदम से कदम मिलाकर सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी हर क्षेत्र में हो रहे विकास और उसकी मांग के अनुसार नए कोर्सेस लेकर आता है|

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में लॉन्च किये गए नए कोर्सेज की सूची इस प्रकार है:

बी.एस.सी (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग)- इस कोर्स के माध्यम से सभी स्टूडेंट्स को तकनीकी तौर पर मजबूत बनाना उद्देश्य है और इसे ए.आई. व मशीन लर्निंग पर आधारित सिस्टम को समझने हेतु तैयार किया गया है। इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष है। यह कोर्स सबसे तेजी से काम करने वाले ऐप्लिकेशन व समस्याओं के समाधान निर्मित करने, विश्लेषणात्मक जानकारी प्रदान करने और कौशल विकास में मदद करता है।

बी.एस .सी (डेटा साइंस)- डेटा साइंस को गणित, व्यापार कौशल, उपकरण, ऐल्गरिधम और मशीन सीखने की तकनीक के मिश्रण के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जो सभी रॉ डेटा से छिपे हुए अंतर्दृष्टि या पैटर्न का पता लगाने में हमारी मदद करते हैं जो बड़े व्यवसाय के निर्माण में प्रमुखतः उपयोग हो सकता है। डेटा साइंस के एडवांसमेंट , कौशल और जानकारी को इस कोर्स में व्यापकता से पिरोया गया है। यह कोर्स 3 वर्ष का है।

बी.बी.ए (डेटा एनालिटिक्स एंड डेटा विसुअलाइजेशन)- डेटा, मेथॉडॉलॉजी, तकनीक, बिजनेस की केस स्टडी, पॉवरफुल डैशबोर्ड , विज़ुअलाइज़ेशन आदि सभी टूल्स को समझने व विश्लेषण हेतु इस कोर्स को बनाया गया है। इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष की है।

बी.बी.ए (बिजनेस इंटेलिजेंस एंड एनालिटिक्स)- डेटा की कार्यप्रणाली, तकनीक , पॉवरफुल डैशबोर्ड, विजुअलाइजेशन की जानकारी और विश्लेषण हेतु इस कोर्स को तैयार किया गया है। इसके अंतर्गत आप डेटा विज़ुअलाइज़ेशन टूल के एडवांस्ड संस्करण जैसे एक्सेल, पावर मैप, पावर बीआई, बिजनेस इंटेलिजेंस सॉफ़्टवेयर आदि टूल्स सीख सकते हैं| इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष है।

बी.सी.ए (बिग डेटा इंटेलिजेंस एंड ऑप्टिमाइजेशन)- बिग डेटा एनालिटिक्स विगत कुछ समय में इतना लोकप्रिय हुआ है। डेटा साइंस रॉ डेटा को सार्थक अंतर्दृष्टि और रणनीति प्रदान करने के लिए बड़ी मात्रा में परिवर्तित करता है। ह स्ट्रक्चर्ड व अन्स्ट्रक्चर्ड डेटा को विश्लेषित कर सरल बनाता है। आज डेटा साइंस खुदरा, वित्त, ई-कॉमर्स, स्वास्थ्य सेवा और आईटी सेवा उद्योगों में सबसे लोकप्रिय और कारगर साबित हुआ है। यह कोर्स 3 वर्ष के लिए किया जाता है।

बी.कॉम (बैंकिंग एंड फाइनेंस) – बैंकिंग और वाणिज्य की जानकारी, कार्य में उपयोगिता और विश्लेषणात्मक ज्ञान को समझने और सीखने के लिए यह कोर्स तैयार किया गया है जिसकी अवधि 3 वर्ष है। वाणिज्य और बैंकिंग की ओर रुझान रखने वाले विद्यार्थी इस कोर्स को कर अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

बी.सी.ए (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग)- इस पाठ्यक्रम में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) को समझने के लिए सबसे बुनियादी ज्ञान का अध्ययन, समस्या के समाधान के लिए बुनियादी तर्क ,ज्ञान का प्रतिनिधित्व आदि को समझने के लिए इसे बनाया गया है| इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष है।

बी. एस. सी (क्लीनिकल रिसर्च एंड हेल्थकेयर )– बीएससी क्लिनिकल रिसर्च एंड हेल्थकेयर मैनेजमेंट प्रोग्राम भारत का पहला और अब तक का सबसे अधिक डिमांड वाला कोर्स है। यह पूर्णकालिक 3 वर्ष का कोर्स है, जिसे प्रबंधन विज्ञान के बारे में ज्ञान, स्वास्थ्य सेवा और नैदानिक अनुसंधान से संबंधित विषयों में विशेषज्ञता हेतु तैयार किया गया है।

बी.बी. ए (लोजिस्टिक्स एंड सप्लाई चेन मैनेजमेंट)- यह कोर्स आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन के पूरे क्षेत्र का अध्ययन करने में सक्षम है जिसमें खरीद, इन्वेंटरी नियंत्रण, आपूर्तिकर्ता विकास, ग्राहक सेवा, रसद और वितरण शामिल हैं। इस कोर्स को आज की तेजी से बदलती और जटिल अर्थव्यवस्था के अनुरूप लगातार अपडेट किया जाता है। इस प्रोग्राम की अवधि 3 वर्ष है।

बी.एस.सी (न्यूट्रीशन एंड वैलनेस)- फ़ूड साइंस और न्यूट्रीशन के बारे में जानकारी, अध्ययन और मरीजों को प्रॉपर डाईट कैसे दे इसके के बारे में इस पाठ्यक्रम में सिखाया जाएगा। यह कोर्स 3 वर्ष की अवधि का है।

बी.ए (साइकोलॉजी )- यह पाठ्यक्रम मानव व्यवहार के अध्ययन से संबंधित एक बुनियादी समझ प्रदान करता है। इस कोर्स की डिमांड पिछले 15 वर्षों से है और कला, मनोविज्ञान एवं शिक्षण पृष्ठभूमि में रुझान रखने वालों को अपनी ओर आकर्षित करता है। पाठ्यक्रम न केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी व्यापक कैरियर की संभावनाओं को प्रस्तुत करता है और साथ ही विदेशी विश्वविद्यालयों द्वारा भी इस पाठ्यक्रम को काफी सराहा गया है।

एम.एस .सी (क्लीनिकल रिसर्च)- क्लिनिकल रिसर्च, क्लिनिकल डेटा मैनेजमेंट, मेडिकल राइटिंग और फार्माकोविजिलेंस पाठ्यक्रम के साथ-साथ मैनेजमेंट मॉड्यूल और सॉफ्ट स्किल्स का मिश्रण कॉरपोरेट लैडर को यह कोर्स तेजी से आगे बढ़ाने का कार्य करता है। इस कोर्स में स्टूडेंट्स को फील्डवर्क और शिक्षाविदों के माध्यम से विकसित बनाने का कार्य किया जाएगा। इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष है।

एम.बी.ए (हेल्थकेयर एंड हॉस्पिटल मैनेजमेंट)- हेल्थकेयर प्रबंधन में एमबीए एक पूर्णकालिक 2 साल का कोर्स है। इस कोर्स में प्रबंधन विज्ञान के बारे में जानकारी, हेल्थकेयर से संबंधित विषयों में विशेषज्ञता आदि शामिल है।

एम.बी.ए (लॉजिस्टिक्स एंड सप्लाई चेन मैनेजमेंट)- लॉजिस्टिक्स और आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन में एमबीए एक व्यापक कोर्स है जो एक लजिस्टिक संचालन के प्रभावी प्रबंधन के लिए आवश्यक विशेषज्ञता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस कोर्स के अंतर्गत उद्योग में प्रशिक्षित कर्मियों के लिए उच्च मांग को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह कोर्स की अवधि 2 वर्ष है।

मास्टर्स इन पब्लिक हेल्थ – इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत, अस्पताल या किसी संगठन में विभिन्न स्वास्थ्य नीतियों, उनकी भूमिका और कार्यान्वयन के सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रशासन के बारे में सिखाया जाता है। इसमें वित्तीय प्रबंधन, कार्यक्रम नियोजन, मानव संसाधन, संचालन अनुसंधान, अर्थशास्त्र और निगरानी का अध्ययन भी शामिल है। सार्वजनिक स्वास्थ्य संगठनों की संरचना और प्रशासन एवं स्वास्थ्य कार्यक्रमों और उनके प्रतिपूर्ति के तहत बनाई गई नीतियों को सार्वजनिक स्वास्थ्य नीति के रूप में गिना जाता है। इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष है।

इन नवीन कोर्स को सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के साथ पढ़ सकते है और देश-विदेश में विकास की नयी परिभाषा के साथ अपनी और अपने देश की पहचान बना सकते हैं।

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी को ही क्यों चुनें?

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के पाठ्यक्रम में व्याख्यान और सेमिनार, कार्यशालाओं और अन्य खुले शिक्षण दृष्टिकोण, केस स्टडीज, निर्देशित शिक्षण, विजिट और विजिटिंग स्पीकर, समस्या-समाधान सत्र और छात्र प्रस्तुतियों सहित शिक्षण और सीखने की रणनीतियों की एक विस्तृत विविधता शामिल है।

सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी में गहन ज्ञान और अभिनव दृष्टिकोण वाले छात्रों की क्षमता बढ़ाने के लिए व्यापक कौशल संवर्धन, पाठ्यक्रमों के लिए उच्च गुणवत्ता वाले शिक्षण और अनुसंधान के लिए एक मजबूत प्रतिबद्धता का संचालन किया जाता है|

मध्यभारत के अग्रणी संस्थानों में से एक होने के नाते विश्वविद्यालय परिसर में अध्ययन करने के साथ सभी नवीनतम सुविधाएं उपलब्ध है। परिसर की खेल सुविधाएं जैसे बास्केटबॉल, बैडमिंटन, टेनिस और क्रिकेट के मैदान जैसी विभिन्न खेल सुविधाएं है।

बच्चों को न्यूट्रीशन युक्त , हाइजेनिक भोजन उपलब्ध कराने के कैफेटेरिया की सुविधा दी भी है।

पुस्तकालय: विश्वविद्यालय के पास चयन करने के लिए 60,000 से अधिक पुस्तकों का संग्रह है, जो छात्रों और कर्मचारियों के लिए पूरी तरह से डिजिटल है, अर्थात् पूरी तरह से स्वचालित पुस्तकालय के रूप में उपलब्ध है।

इंटरनेट / वाई-फाई: 24 * 7 वाईफाई सक्षम परिसर: कैंपस में एक सहज वाई-फाई नेटवर्क है।

व्यायामशाला: छात्रों और संकाय सदस्यों के लिए नवीनतम उपकरण और मशीनों से युक्त एक अच्छी तरह से सुसज्जित जिम सुविधा भी उपलब्ध है।

हॉस्टल सुविधा: गर्ल्स और बॉयज के लिए हॉस्टल की सुविधा उपलब्ध है।

आज ही सही समय है, आपके सपनों का कैरियर अब बस एक एडमिशन दूर है। सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के साथ नवीन और परम्परागत पाठ्यक्रमों के लिए आज ही एडमिशन लें। अपने सपनों को पूरा करने के लिए सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी आपको प्रदान कर रहा है पहले से चले आ रहे कोर्सेस पर 100% व नए कोर्सेस पर 40%तक की छात्रवृत्ति का मौक़ा भी, तो जल्दी करें आज ही जुड़ें सैम ग्लोबल यूनिवर्सिटी के साथ।

ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करें या संपर्क करें 8085140009

0

Related Posts
Spread the love

Leave a Comment