राजस्थान काॅलेज शिक्षा विभाग ने IIIT कोटा के साथ साइन किया MoU, अब राज्य के 12 लाख स्टूडेंट्स फ्री में पढ़ सकेंगे ऑनलाइन टेक्नीकल काेर्सेस

  • Hindi News
  • Career
  • Rajasthan College Education Department Signed MoU With IIIT Kota, Now 12 Lakh Students Of The State Will Be Able To Study Free Online Technical Courses

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

राजस्थान के सभी राजकीय और प्राइवेट काॅलेजाें के स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर है। काॅलेज शिक्षा विभाग ने काॅलेज स्टूडेंट्स की क्षमता के विकास के लिए टेक्नीकल काेर्स पढ़ाने का फैसला किया है। इसके लिए कॉलेज शिक्षा विभाग राजस्थान ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेेशन टेक्नोलॉजी (IIIT) काेटा से एमओयू साइन किया है। इसके तहत स्टू़डेंट्स काे साइबर सिक्यूरिटी समेत अन्य कई काेर्स पढ़ने का माैका मिलेगा। खास बात यह है कि ये काेर्स पूरी तरह फ्री हाेंगे और इसका सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।

12 लाख स्टूडेंट्स को होगा फायदा

इन काेर्सेस काे मूक काेर्सेस का नाम दिया गया है। सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय काॅलेज अजमेर के प्राचार्य और अजमेर जिला राजकीय काॅलेजाें की रेस समिति अध्यक्ष डॉ. एमएल अग्रवाल ने बताया कि राजस्थान के राजकीय और प्राइवेट काॅलेजाें में पढ़ने वाले करीब 12 लाख स्टूडेंट्स के लिए यह अच्छा माैका है। IIIT आईआईआईटी काेटा राज्य के स्टूडेंट्स के लिए मूक कोर्स डिजाइन करवा रहा है। यह काेर्सेस भाषात्मक दृष्टि से सरल और सहज होंगे। हर काेर्स लगभग 6-8 सप्ताह और 30-36 मॉड्यूल्स का होगा।

इन काेर्सेस की होगी पढ़ाई

  • बेसिक कंप्यूटर
  • एडवांस कंप्यूटर
  • मशीन लर्निंग
  • साइबर सिक्यूरिटी
  • एनीमेशन
  • ग्राॅफिक्स
  • डाटा एंट्री
  • स्पोकन इंग्लिश एंड कम्यूनिकेशन स्किल्स

विदेश में डिजाइन हाे रहे काेर्स

IIIT कोटा के निदेशक प्रोफेसर उदय आर. यारागट्टी ने बताया कि इन कोर्सेस को बनाने के लिए बाइडेन नेटवर्क सर्बिया के साथ भी एमओयू किया गया है। इन कोर्सेस को स्टूडेंट्स ऑनलाइन कर सकेंगे। कोर्स खत्म हाेने पर इनका मूल्यांकन और सर्टिफिकेट आदि सभी कार्य ऑनलाइन ही हाेंगे। ये सभी कोर्स हिंदी भाषा में उपलब्ध हाेंगे।

डिग्री और सर्टिफिकेट काेर्स एक साथ

शिक्षा आयुक्त संदेश नायक ने बताया कि इससे स्टूडेंट काे एक साथ डिग्री और कई सर्टीफिकेट्स पढ़ने काे मिलेंगे। राजकीय काॅलेजाें के साथ ही प्राइवेट काॅलेज में पढ़ रहे स्टूडेंट्स के लिए विभाग पहली बार इस तरह की योजना शुरू कर रहा है, जिससे 12 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स काे लाभ मिलेगा।

Related Posts
Spread the love

Leave a Comment